उत्तर प्रदेश

दिल्ली से उठाए गए अली सोहराब के बारे में यूपी सरकार स्थिति स्पष्ट करे

पुलिस द्वारा सूचना न प्राप्त होने के कारण सोहराब के परिजन उनकी सुरक्षा को लेकर चिंतित

लखनऊ – {sarokaar news} अली सोहराब के घर वालों ने रिहाई मंच से फोन पर संपर्क कर बताया कि यूपी पुलिस ने उन्हें 16 नवंबर 2019 को नई दिल्ली में उनके नंद नगरी स्थित आवास से 12 बजे गिरफ्तार किया।गिरफ्तारी के समय फर्द गिरफ्तारी या अन्य कोई कागज तैयार नहीं किया और उन्हें सीधे थान नंद नगरी ले गए। नंद नगरी थाने में कुछ देर रुकने के बाद यूपी पुलिस अली सोहराब को अपने साफ लेकर चली गई। यूपी पुलिस या नंद नगरी पुलिस ने परिजनों को यह नहीं बताया कि यूपी पुलिस अली सोहराब को लेकर कहां गई। परिजनों ने अली सोहराब की गिरफ्तारी के बारे में रिहाई मंच से कानूनी सहायता मांगी है।

रिहाई मंच अध्यक्ष मुहम्मद शुऐब ने कहा कि सोशल मीडिया पर यूपी पुलिस की पोस्ट के अनुसार सोशल मीडिया पर की गई पोस्ट के विरुद्ध थाना हजरतगंज में एफआईआर नंबर 531/19 दर्ज करके अज्ञात लोगों के विरुद्ध मुकदमा कायम किया है। ट्वीटर अकाउंट @anaidakhan7 पर की गई पोस्ट को लेकर मुकदमा कायम किया गया है। प्रथम सूचना रिपोर्ट में यह नहीं दर्शित है कि संबन्धित ट्वीटर अकाउंट किस व्यक्ति का है। अली सोहराब की गिरफ्तारी का कारण स्पष्ट नहीं है और उन्हें तथा उनके परिवार के किसी सदस्य को गिरफ्तारी का कारण नहीं बताया गया है। गिरफ्तारी की सूचना परिवार के किसी सदस्य को न देकर कानून और मानवाधिकार का उल्लंघन किया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
Close