पन्ना

बालिका को हवस का शिकार बनाने की कोशिश के आरोपी को अदालत ने सुनाई कड़ी सजा

देवेंद्रनगर में नाबालिग के साथ हुई थी अश्लीलता

नाबालिग को हवस का शिकार बनाने वाला आरोपी सलाखों के पीछे

रात के अँधेरे में बालिका के साथ कर रहा था अश्लीलता

पन्ना – {sarokaar news} थाना-देवेन्द्रहनगर क्षेत्र अंतर्गत नाबालिग बालिका को अपनी हवस का शिकार बनाने की कोशिश करने वाले दरिंदे को अदालत ने कठोर कारावास की सजा सुनाते हुए सलाखों के पीछे भेज दिया। सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी आशुतोष कुमार दिवेदी ने जानकारी देते हुए बताया कि दिनांक 12.02.2019 नाबालिग बालिका पिंकी [बदला हुआ नाम] अपनी छोटी बहिन व चचेरी बहिन के साथ रात्रि 8 बजे खाना खाने के बाद घर का दरवाजा बंद करके कमरे में सो रही थी और कमरे की लाइट जल रही थी। मौका पाकर आरोपी घर में घुस गया और 15 वर्षीय बालिका के साथ अश्लीलता करने लगा, बालिका जाग गई और उसने सुन्दर लाल को देखा तथा शोर मचाना शुरू कर दिया। शोर सुनकर घर के सभी लोग जाग गए और आरोपी को पकड़ने की कोशिश की लेकिन वह भागने में कामयाब हो गया।

घटना के बाद परिवारजनों ने थाने में जाकर सूचना दी, जिसपर पुलिस ने अपराध क्र.36/19 का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया,विवेचना उपरांत आरोपी के विरूद्ध अपराध प्रमाणित पाये जाने पर अभियोग पत्र न्यायालय में प्रस्तुत किया गया।

मामले की सुनवाई श्री कमल जोशी,विशेष न्याययाधीश पन्ना के न्यायालय में हुई। समूचे प्रकरण में अभियोजन पक्ष द्वारा प्रस्तुत साक्ष्य और न्याायिक-दृष्टांजतों के आधार पर न्यायालय ने आरोपी सुन्दारलाल चौधरी को दोषी पाया। अभियोजन द्वारा अभियुक्तय सुन्दर लाल चौधरी को कठोर से कठोर दंड से दंडित किये जाने का निवेदन किया गया। अभियोजन के तर्कों से सहमत होते हुए अभियुक्त सुन्दरलाल चौधरी उम्र-29 वर्ष, पिता-मतलबी चौधरी, निवासी-ग्राम फुलवारी, थाना-देवेन्द्रंनगर,जिला-पन्नार को धारा 457,354 भा.द.वि. में 04-04 वर्ष का कठोर कारावास और 100-100 रूपये का अर्थदण्ड् से दंडित किया गया धारा 7/8 लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम में 04 वर्ष का कठोर कारावास और 100 रूपये का अर्थदण्ड से दण्डित किया गया। अर्थदण्ड की राशि के अदायगी न करने पर सभी धाराओं में 02-02 दिन के अतिरिक्त कठोर कारावास से दंडित किया गया। प्रकरण में शासन की ओर से जिला लोक अभियोजन अधिकारी प्रवीण कुमार सिंह के मार्गदर्शन में सहायक जिला लोक अभियोजन अधिकारी/विशेष लोक अभियोजक आशुतोष कुमार द्विवेदी द्वारा सशक्त पैरवी की गई।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!
Close